कौन है बेयर ग्रिल्स, आखिर क्यों खतरें में डालते हैं अपनी जान

कौन है बेयर ग्रिल्स, आखिर क्यों खतरें में डालते हैं अपनी जान

बेयर ग्रिल्स का नाम तो सभी ने सुना ही होगा। वे 2006 से 2011 के बीच चले Born Survivor: Bear Grylls शो के बीच फेमस हुए थे। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ शो करके वे ओर भी ज्यादा चर्चा में आए थे। बेयर ग्रिल्स का शो हर कोई देखता था। सभी के मन में एक ही सवाल आता था कि आखिर क्यों बेयर ग्रिल्स अपने आपको खतरे में डालते हैं और क्यों जानवरों को मारकर खा जाते हैं। आईए जानते हैं बेयर ग्रिल्स के बारे में रोचक जानकारी पूरे विवरण के साथ: –


बेयर ग्रिल्स का जन्म

बेयर ग्रिल्स का जन्म लदंन में 7 जून 1974 को हुआ था। उनकी बहन लारा फॉसेट, जोकि अब एक कार्डियो-टेनिस कोच हैं, ने बचपन में उन्हें बेयर बुलाया था तो यहीं से उनका नाम बेयर ग्रिल्स हो गया। वैसे इनका नाम Edward Michaeal Grylls है। बेयर ग्रिल्स बचपन से ही प्रकृति से भी बहुत प्यार करते थे। 4 साल की उम्र तक उनका पालन पोषण आयरलेंड में हुआ था। बियर ग्रिल्स कराटे में बेल्ट जीत चुके हैं।

कौन है बियर ग्रिल्स


भारतीय आर्मी थी पंसद

बियर ग्रिल्स को भारतीय आमी बहुत पंसद थी। वे अपनी स्कूली पढाई खत्म करने के बाद सबसे उंची चोटी माउंट एवरेस्ट चढना चाहते थे। उन्होंने भारतीय आर्मी को ज्वाईन करने की सोची थी लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। वैसे आपको बता दें कि भारतीय आर्मी दुनिया की बेस्ट आर्मी में से एक है। भारतीय आर्मी हर तरफ से दुश्मन को मारने की क्षमता रखती है। कई देशों की आर्मी को भारत में ट्रेनिंग दी जाती है। बियर ग्रिल्स ब्रिटिश स्पेशल एयर सर्विस में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। उन्हें खतरों से खेलने का बचपन से ही शोंक था।


23 वर्ष की आयु में तुडवा ली थी रीढ की हडडी

माउंट एवरेस्ट पर चढने से एक साल पहले उंचाई से कुदते समय उनके पैराशूट में छेद हो गया था और वे पीठ के बल गिर पडे थे जिसकी वजह से उनकी 3 जगहों से रीढ की हडडी टूट गई। बावजूद इसके 1998 में जब वे केवल 23 साल के थे तो उन्होंने माउंट एवरेस्ट की चोटी पर चढने का गिनिज वल्र्ड रिकार्ड बनाया। बियर ग्रिल्स अपने जीवन में उस स्थान पर गए हैं जहां पर कोई भी इंसान आजतक जा नहीं पाया है और अगर गया है तो वापिस जिंदा नहीं लौटा। बेयर ग्रिल्स ने लंदन यूनिवर्सिट से हिस्पैनिक की पढाई कर डिग्री ली हुई है।

कौन है बियर ग्रिल्स


अदभुत रिकार्ड अपने नाम किया है

बेयर ग्रिल्स ने जहां सैंकडो एडवेंचर स्थानों का भ्रमण किया है वहीं उन्होंने अदभुत रिकार्ड अपने नाम किया है। बियर ग्रिल्स ने करीब 7500 की उंचाई पर होट एयर बेलून के नीचे डिनर करने का वल्र्ड रिकार्ड बनाया है। जुलाई 2009 में ग्रिल्स 35 साल की उम्र में चीफ स्काउट के पद पर नियुक्त होने वाले सबसे युवा व्यक्ति थे।


चीन की जनता ने किया सबसे ज्यादा पंसद

चीन की जनता ने बेयर ग्रिल्स को सबसे ज्यादा पंसद किया है। उनकी जीवनी की किताब को चीन में प्रभावशाली माना गया था। चीन की जनता ने बियर ग्रिल्स पर अपना प्यार जताते हुए उन्हें सबसे ज्यादा वोट मिली थी।


शूटिंग के दौरान फैमिली का फोटो रखते हैं साथ

बेयर ग्रिल्स अपनी फैमिली से बहुत प्यार करते हैं। वे जब शूटिंग पर जाते हैं तो भगवान को याद करते हैं और अपनी फैमिली को बहुत प्यार करते हैं। एक वेबसाईट के अनुसार वे अपनी फेमिली का फोटो अपने साथ रखते हैं और उन्हें देखते रहते हैं। जब वे घर पर जाते हैं तो सबसे पहले पेट की दवाई लेते हैं क्योंकि सरवाईव के दौरान उन्होनें बहुत कुछ खाया होता है। उनके पेट में कीडे बन जाते हैं और वे पेट मेें कीडे मारने की दवाई खाते हैं।

कौन है बियर ग्रिल्स


चीटीं से लेकर उंट तक खाया है बेयर ग्रिल्स ने

यह तो आपको पता ही होगा कि बेयर ग्रिल्स ने क्या-क्या खाया है। शूटिंग के दौरान वे ऐसी ऐसी चीज खाते थे जिससे देखकर हर किसी का मन खराब हो जाता। बियर ग्रिल्स ने अब तक चींटी, मकौडे, दीमक, सांप, कैंकडा, मकडी, जगली छिपकली, घोंघा, मछली, जिराफ, उंट, बकरा, पहाडी हिरण, कबूतर के अंडे सहित सैंकडो जीवों को खाया है।


भगवान में है पूरा विश्वास

बेयर ग्रिल्स को आपने जानवरों को खाते देखा होगा। सरवाईव के दौरान जो भी जीव सामने आता है उसे खा जाते हैं। लोगों के मन में यही शंका होती होगी कि क्या इसमें कोई दया भाव नहीं है जो यह सब खा जाता है तो आपका यह सोचना गलत होगा। बियर ग्रिल्स का भगवान में पूरा विश्वास है और ईसाई धर्म को मानते हुए उनका यह विश्वास अटूट है।


आखिर अपनी जान खतरें में क्यों डालते हैं

बेयर ग्रिल्स चूंकि एक अच्छे एडवेंचर बने हैं लेकिन क्यों बने हैं इसके पीछे भी एक कारण है। बियर ग्रिल्स बचपन से ही दुर्गम स्थानों पर जाने का शौक रखते थे। अनेक सैनिक चाहे वो किसी भी देश के हों तो वे जंगलों में भटक जाते हैं और सही जानकारी न मिलने पर ना तो कुछ खा सकते हैं और ना ही पी सकते हैं। जो बिना किसी जानकारी के वहां कुछ भी खा पी जाता था तो उस जंगल से वापिस नहीं आता था। बियर ग्रिल्स का मकसद भी यही था कि वे अपनी सीरियल के जरिए लोगों को बताना चाहते हैं कि अगर कोई भी व्यक्ति कहीं फंस जाए तो कैसे बाहर आ सकता है। बियर ग्रिल्स वही चीज खाते पीते हैं जो सही होती है। ऐसा नहीं है कि कुछ भी ख लेते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार जंगलों में सैंकडो लोगों की जान इसी वजह से ही गई है कि उन्हें कोई गाईडर नहीं मिला जिसकी मदद से बाहर निकला जा सके। मजबूरी कुछ भी करवा सकती है, अगर जिंदा रहना है तो ये चीज खानी ही पडेगीं। जो नहीं खाएगा वह मर जाएगा। इसलिए ही बियर ग्रिल्स अपनी जान जोखिम में डालता है।

आशा है कि आपको हमारा यह आर्टिकल आपको पंसद आया होगा। इसी तरह अन्य शानदार आर्टिकल हम आपके लिए लाते रहेंगे। अन्य रोचक जानकारी पढने के लिए विजिट करिए हमारी वेबसाईट पर।

Thanks read this story

read more post

Leave a Reply